Jac Board Class 10th Science Chapter 1 रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण

Jac Board Class 10th Science Chapter 1 रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण


रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण 

CLASS 10TH SCIENCE CHAPTER 1


पाठ्यपुस्तक प्रश्न उत्तर पृष्ठ संख्या - 06

1. वायु में जलाने से पहले मैग्नीशियम रिबन को साफ़ क्यों किया जाता है ?[V.V.I]

उत्तर: वायु में जलाने से पहले मैग्नीशियम रिबन को रेगमाल से रगड़कर साफ़ किया जाता हैं, ताकि मैग्नीशियम ऑक्साइड और मैग्नीशियम कार्बोनेट की परत हट जाए, जो वायुमंडलीय ऑक्सीजन और कार्बनडाई ऑक्साइड, से अभिक्रिया के फलस्वरूप रिबन पर बना था।


2. निम्नलिखित रासायनिक अभिक्रियाओं के लिए संतुलित समीकरण लिखिए। [IMPORTANT]

  1. हाइड्रोजन + क्लोरीन → हाइड्रोजन क्लोराइड 
  2. बेरियम क्लोराइड + ऐलुमीनियम सल्फेट → बेरियम सल्फेट + ऐलुमीनियम क्लोराइड 
  3. सोडियम + जल → सोडियम हाइड्रॉक्साइड + हाइड्रोजन

उत्तर: 
  1. H2 + Cl2 → 2HCl 
  2. 3BaCl2 + Al2(SO4)3 → 3BaSO4 + 2AlCl3
  3. 2Na + 2H2O → 2NaOH + H2


3. निम्नलिखित अभिक्रियाओं के लिए उनकी अवस्था के संकेतों के साथ संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए-

  1. जल में बेरियम क्लोराइड तथा सोडियम सल्फेट के विलयन अभिक्रिया करके सोडियम क्लोराइड का विलयन तथा अघुलनशील बेरियम सल्फेट का अवक्षेप बनाते हैं।
  2. सोडियम हाइड्रोक्साइड का विलयन (जल में) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल के विलयन (जल में) से अभिक्रिया करके सोडियम क्लोराइड का विलयन तथा जल बनाते हैं।

उत्तर: 

  1. BaCl2 + Na2SO4 → BaSO+ 2NaCl
  2. BaCl2 बेरियम क्लोराइड
    Na2SO4सोडियम सल्फेट
    BaSO4बेरियम सल्फेट
    2NaClसोडियम क्लोराइड

  3. NaOH + HCl → NaCl + H2O
  4. NaOH  सोडियम हाइड्रोक्साइड
    HClहाइड्रोक्लोरिक अम्ल
    NaClसोडियम क्लोराइड
    H2Oजल

पाठ्यपुस्तक प्रश्न उत्तर पृष्ठ संख्या - 11

1. किसी पदार्थ 'X' के विलयन का उपयोग सफ़ेदी करने के लिए होता है। [IMPORTANT]

  1. पदार्थ 'X' का नाम तथा इसका सूत्र लिखिए। 
  2. ऊपर (i) में लिखे पदार्थ 'X' की जल के साथ अभिक्रिया लिखिए।

उत्तर: 

  1. पदार्थ 'X' का नाम कैल्सियम ऑक्साइड (बिना बुझा हुआ चुना) है तथा इसका रासायनिक सूत्र CaO है। 
  2. CaO + H2O → Ca(OH)2 
  3. CaO बिना बुझा हुआ चुना
    H2Oजल
    Ca(OH)2बुझा हुआ चुना

2. क्रियाकलाप 1.7 में एक परखनली में एकत्रित गैस की मात्रा दूसरी से दोगुनी क्यों है? उस गैस का नाम बताइए।

उत्तर: उस गैस का नाम हाइड्रोजन है। दोनों परखनलियों में से एक (कैथोड़) पर हाइड्रोजन गैस बनती है तथा दूसरी परखनली (ऐनोड) पर ऑक्सीजन गैस ।
हाइड्रोजन गैस, ऑक्सीजन गैस की मात्रा से दोगुनी मात्रा में बनती है, क्योंकि जल का एक अणु एक ऑक्सीजन परमाणु तथा दो हाइड्रोजन परमाणुओं से मिलकर बना होता है। एक जल का अणु विघटित होता है तो वह टूट कर दो हाइड्रोजन परमाणु तथा एक ऑक्सीजन परमाणु बनाएगा। यही कारण है कि हाइड्रोजन गैस ऑक्सीजन गैस की तुलना में दोगुनी मात्रा में बनती है।


पाठ्यपुस्तक प्रश्न उत्तर पृष्ठ संख्या - 15

1. जब लोहे की कील को कॉपर सल्फेट के विलयन में डुबोया जाता है तो विलयन का रंग क्यों बदल जाता है? [IMPORTANT]

उत्तर: जब लोहे की कील को कॉपर सल्फेट के विलयन में डुबोया जाता है, तो लोहा कॉपर सल्फेट विलयन से कॉपर को विस्थापन कर देता है और आयरन सल्फेट बनाता है, जो कि रंग में हरा होता है। इसलिए विलयन का रंग बदल जाता है।


2. क्रियाकलाप 1.10 से भिन्न द्विविस्थापन अभिक्रिया का एक उदाहरण दीजिए|

उत्तर: द्विविस्थापन अभिक्रिया का एक उदाहरण :-
BaCl2 + H2SO4 → BaSO4 + 2HCl
इस अभिक्रिया में दो समूहों Cl2SO4 का विस्थापन हुआ है | 

3. निम्न अभिक्रियाओं में उपचयित तथा अपचयित पदार्थों की पहचान कीजिए:

  1. 4Na(s) + O2(g) → 2Na2O(s) 
  2. CuO(s) + H2(g) → Cu(s) + H2O

उत्तर: 
  1. 4Na(s) + O2(g) → 2Na2O(s) 
इसमें सोडियम (Na) के साथ O जुड़ा है अत: इस अभिक्रिया में सोडियम का उपचयन हुआ है |
  1. CuO(s) + H2(g) → Cu(s) + H2O
इस अभिक्रिया में Cu से O हटा है तथा H2 से मिलकर उसने H2O बनाया है | अत: इस अभिक्रिया में कॉपर (Cu) का अपचयन तथा H2(हाइड्रोजन) का उपचयन हुआ है | 


अभ्यास के प्रश्न उत्तर


1. नीचे दी गई अभिक्रिया के संबंध में कौन सा कथन असत्य है? [IMPORTANT]

2PbO(s) + C(s) → 2Pb(s) + Co2(g)

(a) सीसा अपचयित हो रहा है।

(b) कार्बन डाइऑक्साइड उपचयित हो रहा है।

(c) कार्बन उपचयित हो रहा है।

(d) लेड ऑक्साइड अपचयित हो रहा है।

  1. (a) एवं (b)
  2. (a) एवं (c)
  3. (a), (b) ) एवं (c)
  4. सभी

उत्तर: 1. (a) एवं (b)


2. Fe2O3 + 2Al → Al2O3 + 2Fe

ऊपर दी गई अभिक्रिया किस प्रकार का है | [IMPORTANT]

  1. संयोजन अभिक्रिया 
  2. द्विविस्थापन अभिक्रिया
  3. वियोजन अभिक्रिया 
  4. विस्थापन अभिक्रिया 

उत्तर: 4. विस्थापन अभिक्रिया 


3. लौह-चूर्ण पर तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल डालने से क्या होता है? सही उत्तर पर निशान लगाइए। [IMPORTANT]

  1. हाइड्रोजन गैस एवं आयरन क्लोराइड बनता है।
  2. क्लोरीन गैस एवं आयरन हाइड्रॉक्साइड बनता है।
  3. कोई अभिक्रिया नहीं होती है।
  4. आयरन लवण एवं जल बनता है।

उत्तर: 1. हाइड्रोजन गैस एवं आयरन क्लोराइड बनता है।


4. संतुलित रासायनिक समीकरण क्या है ? रासायनिक समीकरण को संतुलित करना क्यों आवश्यक है ? [IMPORTANT]

उत्तर: संतुलित रासायनिक समीकरण : वह रासायनिक समीकरण जिसमे अभिकारक एवं उत्पाद दोनों के अभिक्रिया में भाग लेने वाले परमाणुओं की संख्या दोनों तरफ (अर्थात अभिकारक तथा उत्पाद) समान होती है, उसे संतुलित रासायनिक समीकरण कहते है |

रासायनिक समीकरण को संतुलित करना आवश्यक है क्योंकि द्रव्यमान संरक्षण के नियम के अनुसार द्रव्यमान न बनाया जा सकता है और ना ही नष्ट किया जा सकता है। इसलिए, रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेने वाले, प्रत्येक तत्व के परमाणुओं की कुल संख्या अभिकारक तथा उत्पाद दोनों तरफ बराबर होनी चाहिए। इसलिए रासायनिक समीकरण को संतुलित करना आवश्यक है।


5. निम्न कथनों को रासायनिक समीकरण के रूप में परिवर्तित कर उन्हें संतुलित कीजिए। [IMPORTANT]

  1. नाइट्रोजन हाइड्रोजन गैस से संयोग करके अमोनिया बनाता है।
  2. हाइड्रोजन सल्फ़ाइड गैस का वायु में दहन होने पर जल एवं सल्फर डाइऑक्साइड बनता है।
  3. ऐल्युमिनियम सल्फेट के साथ अभिक्रिया कर बेरियम क्लोराइड, ऐल्युमिनियम क्लोराइड एवं बेरियम सल्फेट का अवक्षेप देता है।
  4. पोटैशियम धातु जल के साथ अभिक्रिया करके पोटैशियम हाइड्रॉक्साइड एवं हाइड्रोजन गैस देती है।

उत्तर: 

  1. N2 + H2 → NH3

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. N2 + 3H2 → 2NH3
-----------------------------------
  1. H2S + O2 → H2O + SO2

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. 2H2S + 3O2 → 2H2O + 2SO2
---------------------------------
  1. BaCl2 + Al2(SO4)3 → AlCl3 + BaSO4

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. 3BaCl2 + Al2(SO4)3 → 2AlCl3 + 3BaSO4
-----------------------------------
  1. K + H2O → KOH + H2

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. 2K + 2H2O → 2KOH + H2

6. निम्न रासायनिक समीकरणों को संतुलित कीजिए ? [IMPORTANT]

  1. HNO3 + Ca(OH)2 → Ca(NO3)2 + H2O
  2. NaOH + H2SO4 → Na2SO4 + H2O
  3. NaCl + AgNO3 → AgCl + NaNO3
  4. BaCl2 + H2SO4 → BaSO4 + HCl

उत्तर: 

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. 2HNO3 + Ca(OH)2 → Ca(NO3)2 + 2H2O
-----------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. 2NaOH + H2SO4 → Na2SO4 + 2H2O
---------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. NaCl + AgNO3 → AgCl + NaNO3
-----------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. BaCl2 + H2SO4 → BaSO4 + 2HCl

7. निम्न अभिक्रियाओं के लिए संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए - [IMPORTANT]

  1. कैल्शियम हाइड्रोक्साइड + कार्बन डाईऑक्साइड → कैल्शियम कार्बोनेट + जल
  2. जिंक + सिल्वर नाइट्रेट → जिंक नाइट्रेट + सिल्वर
  3. ऐल्युमिनियम + कॉपर क्लोराइड → ऐल्युमिनियम क्लोराइड + कॉपर
  4. बेरियम क्लोराइड + पोटैशियम सल्फेट → बेरियम सल्फेट + पोटैशियम क्लोराइड

उत्तर: संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. Ca(OH)2 + CO2 → CaCO3 + H2O
-----------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. Zn + 2AgNO3 → Zn(NO3)2 + 2Ag
---------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. 2Al + 3CuCl2 → 2AlCl3 + 3Cu
-----------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. BaCl2 + K2SO4 → BaSO4 + 2KCl

8. निम्न अभिक्रियाओं के लिए संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए एवं प्रत्येक अभिक्रिया का प्रकार बताइए - [IMPORTANT]

  1. पोटैशियम ब्रोमाइड + बेरियम आयोडाइड → पोटैशियम आयोडाइड + बेरियम ब्रोमाइड
  2. जिंक कार्बोनेट → जिंक ऑक्साइड + कार्बन डाइऑक्साइड
  3. हाइड्रोजन + क्लोरीन → हाइड्रोजन क्लोराइड
  4. मैग्नीशियम + हाइड्रोक्लोरिक अम्ल → मैग्नीशियम क्लोराइड + हाइड्रोजन

उत्तर: संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. 2KBr + BaI2 → 2KI + BaBr2
यह अभिक्रिया एक द्विविस्थापन अभिक्रिया है |
-----------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. ZnCo3 → ZnO + CO2
यह अभिक्रिया एक वियोजन अभिक्रिया है |
---------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. H+ Cl2 → 2HCl
यह अभिक्रिया एक संयोजन अभिक्रिया है |
-----------------------------------

संतुलित रासायनिक समीकरण : 

  1. Mg + 2HCl → MgCl2 + H2
यह अभिक्रिया एक विस्थापन अभिक्रिया है |

9. ऊष्माक्षेपी एवं ऊष्माशोषी अभिक्रिया का क्या अर्थ है ? उदाहरण दीजिए | [V.V.I]

उत्तर: ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया : वह अभिक्रिया जिसमे उत्पाद के निर्माण के साथ-साथ ऊष्मा भी उत्पन्न होती है ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया कहलाती है |
उदाहरण : CH+ 2O2 → CH2 + 2H2O + ऊर्जा
ऊष्माशोषी अभिक्रिया : वह अभिक्रिया जिसमे उत्पाद ऊष्मा के अवशोषण के बाद बनता है, अर्थात् जिसमें ऊष्मा अवशोषित होती है ऊष्माशोषीअभिक्रिया कहलाती है |
उदाहरण : 2AgBr         2Ag  +  Br

10. श्वसन को ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया क्यों कहते है? वर्णन करे | [V.V.I]

उत्तर: श्वसन को ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया दो कारणों से कहा जाता है |
  1. श्वसन क्रिया के दौरान होने वाली अभिक्रिया में ग्लूकोज, ऑक्सीजन से संयोग कर CO2 और जल बनाता है |
  2. इस अभिक्रिया में ऊष्मा ऊर्जा मुक्त होती है |


11. वियोजन अभिक्रिया को संयोजन अभिक्रिया के विपरीत क्यों कहा जाता है ? इन अभिक्रियाओ के लिए समीकरण लिखे | [IMPORTANT]

उत्तर: संयोजन अभिक्रिया : ऐसी अभिक्रिया जिसमे दो या दो से अधिक अभिकारक मिलकर एकल उत्पाद उत्पन्न करते है, उसे संयुक्त या संयोजन अभिक्रिया कहते है |
उदाहरण : CaO + H2O → Ca(OH)2
वियोजन अभिक्रिया : वह अभिक्रिया जिसमे एकल अभिकारक टूट कर छोटे-छोटे उत्पादों का निर्माण करते है, उसे वियोजन अभिक्रिया कहते है |
उदाहरण : 2AgBr         2Ag  +  Br
इन परिभाषा व उदाहरणों के आधार पर हम कह सकते है की संयोजन (अर्थात् जोड़ने वाली) तथा वियोजन (अर्थात् तोड़ने वाली) दो विपरीत अभिक्रियाएँ है | तथा वियोजन अभिक्रिया संयोजन अभिक्रिया के विपरीत अभिक्रिया है |

12. उन वियोजन अभिक्रियाओं के एक एक समीकरण लिखें जिनमें ऊष्मा, प्रकाश एवं विधुत के रूप में ऊर्जा प्रदान की जाती है | [IMPORTANT]

उत्तर: 
A. ऊष्मा से होने वाली वियोजन अभिक्रिया :
CaCO3 → CaO + CO2
B. विधुत से होने वाली वियोजन अभिक्रिया :
2H2O → 2H2 + O2
C. प्रकाश से होने वाली वियोजन अभिक्रिया :
2AgCl → 2Ag + Cl2


13. विस्थापन एवं द्विविस्थापन अभिक्रियाओं में क्या अंतर है ? इन अभिक्रियाओं के समीकरण को लिखें |

उत्तर: विस्थापन अभिक्रिया : वह अभिक्रिया जिसमें अधिक अभिक्रियाशील धातु कम अभिक्रियाशील धातु को उसके यौगिक में से विस्थापित कर देते है, विस्थापन अभिक्रिया कहलाते है |
समीकरण : Fe + CuSO4 → FeSO4 + Cu
द्विविस्थापन अभिक्रिया : ऐसी अभिक्रियाए जिनमे यौगिको के बीच आयनों का आदान-प्रदान होता है, द्विविस्थापन अभिक्रिया कहलाती है |
समीकरण : Na2SO4 + BaCl2 → BaSO4 + 2NaCl

14. सिल्वर के शोधन में, सिल्वर नाइट्रेट के विलयन से सिल्वर प्राप्त करने के लिए कॉपर धातु द्वारा विस्थापन किया जाता है | इस प्रक्रिया के लिए अभिक्रिया लिखिए |

उत्तर: 2AgNO3 + Cu → 2Ag + Cu(NO3)2


15. अवक्षेपण अभिक्रिया से आप क्या समझते है ? उदाहरण देकर समझाएं | [V.V.I]

उत्तर: अवक्षेपण अभिक्रिया : वह अभिक्रिया जिसमे अवक्षेप(अविलेय पदार्थ) का निर्माण होता है, अवक्षेपण अभिक्रिया कहलाती है |
उदाहरण : Na2SO4 + BaCl2 → BaSO4 + 2NaCl
इस अभिक्रिया में BaSO4 एक अवक्षेप है |

16. ऑक्सीजन के योग या ह्रास के आधार पर निम्न पदों की व्याख्या करे | प्रत्येक के लिए दो उदाहरण दे |

  1. उपचयन
  2. अपचयन

उत्तर: 

  1. उपचयन : अभिक्रिया के समय जब किसी पदार्थ में ऑक्सीजन की वृद्धि होती है तो उसे उपचयन अभिक्रिया कहते है |
2Mg + O2  → 2MgO
इस अभिक्रिया में मैग्नीशियम का उपचयन हुआ है |
C  + O2 →  CO2 
इस अभिक्रिया में कार्बन का उपचयन हुआ है |
  1. अपचयन : अभिक्रिया के समय जब किसी पदार्थ में ऑक्सीजन की ह्रास या कमी होती है तो उसे अपचयन अभिक्रिया कहते है |
CuO + H2  → Cu +  H2
इस अभिक्रिया में कॉपर का अपचयन हुआ है |
ZnO + C  → Zn +  CO 
इस अभिक्रिया में जिंक का अपचयन हुआ है |

17. एक भूरे रंग के चमकदार तत्व 'X' को वायु की उपस्थिति में गर्म करने पर वह काले रंग का हो जाता है | इस तत्व 'X' एवं उस काले रंग के यौगिक का नाम बताएँ |

उत्तर: 'X' पदार्थ कॉपर (Cu) है तथा काले रंग का पदार्थ कॉपर ऑक्साइड (CuO) है |
2Cu  +  O2  →  2CuO

18. लोहे की वस्तुओं को हम पेन्ट क्यों करते हैं ? | [V.V.I]

उत्तर: लोहे की वस्तुओं को हम पेन्ट इसलिए करते है क्योंकि पेन्ट करने से उन वस्तुओं और वायु व नमी के बीच पेंट की एक दीवार आ जाती है जो लोहे को वायु व नमी के सम्पर्क में नहीं आने देती | वायु व नमी के संपर्क में न आने से लोहे पर फेरिक ऑक्साइड अर्थात जंग नहीं बन पाएगा और वस्तु संक्षारती होने से बच जाएगी |

19. तेल एवं वसायुक्त खाद्य पदार्थो को नाइट्रोजन से प्रभावित क्यों किया जाता है ? | [V.V.I]

उत्तर: तेल एवं वसा युक्त खाद्य पदार्थों को नाइट्रोजन से इसलिए प्रभावित किया जाता है, क्योंकि ये पदार्थ ऑक्सीजन के साथ उपचयन अभिक्रिया करते हैं जिससे उनके स्वाद और गंध बदल जाते हैं। नाइट्रोजन एक प्रतिऑक्सीकारक है, जो इन पदार्थों को उपचयन से बचाता है। अतः तेल एवं वसायुक्त खाद्य पदार्थ विकृतगंधी नहीं होते हैं। इस तरह तेल एवं वसायुक्त खाद्य पदार्थ खराब होने से बच जाते है।

20. निम्न पदों का वर्णन कीजिये तथा प्रत्येक का एक-एक उदहारण दीजिए ?

  1. संक्षारण 
  2. विकृतगंधिता

उत्तर: 
  1. संक्षारण : जब कोई धातु, नमी, अम्ल आदि के संपर्क में आती है, तो उसके ऊपर ऑक्साइड की परत जम जाती है और यह धीरे-धीरे क्षरित होने लगती है। इस प्रक्रिया को संक्षारण कहते हैं।
    उदाहरण :
    तांबे के ऊपर हरी परत, चाँदी के ऊपर काली परत आदि |
  2. विकृतगंधिताः तेल तथा वसायुक्त खाद्य पदार्थ जब वायु में उपस्थित ऑक्सीजन से अभिक्रिया करते हैं तो उपचयन के फलस्वरूप उनके स्वाद और गंध बदल जाते है और ये विकृत हो जाते हैं। यह प्रक्रिया विकृतगंधिता कहलाती है। 
    उदाहरण : खुला रखने पर समोसे का स्वाद और गंध बदल जाना आदि |

WATCH VIDEO ON YOUTUBE

PDF DOWNLOAD

Post a Comment

Previous Post Next Post